जिलाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारियों ने लिया कोविड-19 का टीका

– 12 सत्र स्थलों पर शनिवार से शुरू हुआ दूसरे चरण का टीकाकरण

– जिलाधिकारी ने कहा कि सुरक्षित है कोविड- 19 का टीका

रितेश हन्नी/सहरसा – शनिवार को जिले में दूसरे चरण का टीकाकरण का आरंभ हुआ है, जिसमें फ्रंट लाइन वर्कर्स को कोविड-19 के टीके लगाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में सोमवार को जिलाधिकारी कौशल कुमार ने सदर अस्पताल स्थित कोविड-19 टीकाकरण स्थल पारा मेडिकल कॉलेज पर कोरोना का टीका लगवाया। इसी टीकाकरण केंद्र पर जिलाधिकारी के अलावा जिले के एसडीएम विनय मंडल, सदर एसडीओ शंभूनाथ झा एवं सदर अस्पताल के चिकित्सक डॉ. अखिलेश कुमार तथा सहयोगी संस्था यूएनडीपी के कार्यक्रम पदाधिकारी प्रियरंजन झा ने भी कोविड-19 का टीका लिया।


जिलाधिकारी कौशल कुमार ने टीका लेने के बाद कहा कोरोना का टीका पूरी तरह सुरक्षित है। टीके का किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट नहीं है। उन्होंने जिलेवासियों से अपील करते हुए कहा जब भी आपकी बारी आए तो टीका जरूर लगवाएं।

वायरस से लड़ाई लड़ने के लिए खुद को स्वस्थ रखना जरूरी – डीएम

जिलाधिकारी ने कहा टीकाकरण बिल्कुल सामान्य प्रक्रिया है। सभी लोगों को कोविड 19 से सुरक्षित रहने के लिए टीकाकरण कराना आवश्यक है। प्रथम चरण में स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों एंव कर्मियों ने भी टीकाकरण कराया है। टीकाकरण से किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं है। जिलाधिकारी ने कहा पिछले एक वर्ष से हमलोग इस वायरस से लड़ाई लड़ रहे हैं। आगे भी इस वायरस से लड़ाई लड़ने के लिए खुद को स्वस्थ रखना जरूरी है।

टीकाकरण के बाद भी कोविड नियमों का पालन जरूरी : डीएम

जिलाधिकारी कौशल कुमार ने बताया पहले चरण के टीकाकरण से लोगों में कोविड टीकाकरण को लेकर जागृति आई है एवम् आत्मविश्वास भी जागा है। लोगों को भ्रामक बातों में न आकर टीकाकरण के लिए एक दूसरे का मनोबल बढ़ाया जाना चाहिए। जिसका नाम पहले से दर्ज है वह अपने निकटतम केंद्र पर जाकर अपना टीका जरूर लें। टीकाकरण के प्रथम डोज के उपरांत 28 दिनो के अंतराल में दूसरा डोज दिया जायेगा। अतः जरूरी है कि लोग टीकाकरण के उपरांत भी मास्क का इस्तेमाल, नियमित साबुन पानी से हाथ धोना, हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना एवं 6 फीट की शारीरिक दूरी रखने का पालन करते रहें।

आधा घण्टा तक जिलाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी भी रुके ऑब्जर्वेशन रूम में

सिविल सर्जन डॉ. अवधेश कुमार ने बताया टीका लेने के लिए सदर अस्पताल स्थित कोविड-19 टीकाकरण स्थल पारा मेडिकल कॉलेज पहुचें जिलाधिकारी ने कोविड के मानकों को ख्याल रखते हुए सबसे पहले अपने हाथों को सैनिसेनेटाइज किया। उसके बाद अपना टोकन लेकर वैक्सीनेशन रूम में पहुँचे जहां मौजूद प्रशिक्षित महिला स्वास्थ्य कर्मी ने जिलाधिकारी को कोविड का इंजेक्शन दिया। उसके बाद जिलाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी 30 मिनट के लिए ऑब्जरवेशन में रूम मे रूके। टीकाकरण के बाद किसी भी तरह के साइड इफ़ेक्ट के प्रबंधन के मद्देनजर लाभार्थी को चिकित्सकों की निगरानी में टीकाकरण सत्र स्थल पर 30 मिनट तक रोका जाता है।

टीकाकरण के लिए जिले में चलाया जा रहा विशेष अभियान

प्रथम एवं दूसरे चरण के टीकाकरण को लेकर जिले में विशेष अभियान चलाया जा रहा है। प्रखंड स्तर के पदाधिकारी बी.डी.ओ., बी.पी.आर.ओ. सहित पंचायत सचिव एवं अन्य पदाधिकारियों का प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण के लिए डेटाबेस तैयार कर टीका दिया जा रहा है। चरणबद्ध तरीके से इन सभी पदाधिकारियों को द्वितीय चरण में टीकाकरण पूर्ण किया जायेगा। मौके पर सिविल सर्जन अवधेश कुमार, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. कुमार विवेकानंद, डीपीआरो दिलीप कुमार देव, जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम विनय रंजन, जिला अनुश्रवण एवं मूल्यांकन पदाधिकारी कंचन कुमारी, यूएनडीपी के कार्यक्रम पदाधिकारी प्रियरंजन झा तथा भीसीसीएम मोहम्मद मुमताज खालिद, केयर इंडिया के डीटीएल रोहित रैना, डब्लूएचओ के एसएमओ डॉ मयंक शेरसिया, अस्पताल प्रबंधक अमित कुमार चंचल, तथा अन्य पदाधिकारी एवं कर्मी मौजूद रहे।


[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275