कृषि कानून के विरूद्ध किसानों ने भाकपा – माले – अ. भा. किसान महासभा के नेतृत्व में गड़हनी स्टेट हाईवे को किया गया जाम!

 

किसान समन्यवय समिति के आह्वान पर राष्ट्रव्यापी चक्का जाम का किया समर्थन!

किसान विरोधी तीनो कानून रद्द करो, बिजली विधेयक 2020 वापस लें सरकार-शिव प्रकाश

रिपोर्ट:-अल्ताफ हुसैन/गड़हनी:-किसान विरोधी तीनो कानून रद्द करो, बिजली विधेयक 2020 वापस लें सरकार, दिल्ली किसान आंदोलन के दौरान किसान एवं पत्रकार पर लादे गये झूठे मुकदमें वापस लेने, जेल में बंद किसान- पत्रकार- सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यकर्ता को रिहा करने, बिहार में बाजार समिति को बहाल करने, बंद पड़े चीनी मिल चालू करने आदि मांगों को लेकर अखिल भारतीय किसान महासभा एवं भाकपा माले के संयुक्त बैनर तले गड़हनी में जुलूस निकालकर स्टेट हाईवे को जाम किया गया.

जाम के दौरान परीक्षार्थी, अविभावक के साथ ही एंबूलेंस, दूध, सब्जी आदि आवश्यक सेवाओं से संबंधित गाड़ियों को रास्ता देकर निकलने दिया गया. जाम से सड़क के दोनों ओर वाहनों का तांता लग गया. किसान जाम स्थल पर केंद्र सरकार के खिलाफ आक्रोशपूर्ण नारे लगाते रहे.जाम को संबोधित करते हुए कॉमरेड शिव प्रकाश ने कहा कि मोदी सरकार किसान आंदोलन से डर गई है। घबराहट में लोकतांत्रिक तरीके से आंदोलन कर रहे किसानों को, ग्राउंड रिपोर्ट कर रहे पत्रकारों, पक्ष में बोल रहे देशी विदेशी बुद्धिजीवी पर मुकदमा कर आवाज को दबाना चाहती है।

आंदोलन स्थल को किलेबंदी कर लोकतंत्र पर हमला बोल रही है। लेकिन देश के किसान कानून वापसी तक आंदोलन जारी रखेंगे।भाकपा माले , किसान महासभा द्वारा चक्का जाम किया जिसका नेतृत्व इन्कलाबी नौजवान सभा के जिला संयोजक कॉमरेड शिव प्रकाश रंजन ने किया और अध्यक्षता भाकपा माले के गड़हनी प्रखण्ड के विधायक प्रतिनिधि कॉमरेड राम छपित राम ने किया । उपस्थित नेताओं में भाकपा माले नेता प्रद्युमन,सम्राट जी,इनौस नेता धनकिशोर रजक,हरिनारायण,सोनू,अखिलेश,
अरशद ओमप्रकाश उपस्थित रहे ।


[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275