विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने मनाया सरकार के फैसले के विरोध में काला दिवस।


कटिहार से जगन्नाथ दास की रिपोर्ट ।

कटिहार/अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बिहार प्रदेश द्वारा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बिहार ने माध्यमिक शिक्षक पत्रता परीक्षा रद्द के निर्णय के विरोध में 23 मई शनिवार को लॉक डाउन का पालन करते हुए तथा एवं सामाजिक दूरी का ध्यान रखते हुए मनाया काला दिवस इस पर ऋषि राज (बासुकी)
(राष्ट्रपति पुरस्कृति)
बिहार प्रांत SFD कार्यसमिति सदस्य सह जिला SFD प्रमुख ने कहा कि STET 2019 परीक्षा के रिजल्ट प्रकाशित होने के समय अचानक से परीक्षा रद्द किया जाना खुद बिहार विद्यालय परीक्षा समिति अपने ऊपर प्रश्न चिन्ह लगाती है जबकि नोटिफिकेशन निकाला तो लगभग 4 पन्नों में सारी जानकारी क्रमांश एवं बारीकी से लिखा हुआ था इसके अतिरिक्त किसी भी तरह के कंफ्यूजन को दूर करने के लिए बोर्ड ने ईमेल एवं मोबाइल नंबर जारी किया था 28 जनवरी को जब एग्जाम लिया गया तो सभी सेंटर पर त्रिस्तरीय जांच की व्यवस्था की गई

प्रत्येक परीक्षा हॉल में डिवाइस जैसे फोन ब्लूटूथ के प्रयोग को रोकने वाला यंत्र लगाया गया था जूता-चप्पल को बाहर खोलकर परीक्षार्थी एग्जाम दिए थे और इसका निर्णय 22 मई को कोर्ट द्वारा दिया जाता पर बिहार सरकार आनन-फानन में आकर इसका निर्णय लेकर अचानक 16 मई को परीक्षा रद्द कर दिया विद्यार्थी परिषद ने इसका विरोध करते हुए 23 मई को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अपने घरों में रहकर काला दिवस मनाया एवं सरकार का पुरजोर विरोध किया।
इस मौके पर अभाविप प्रदेश कार्यसमिति सदस्य प्रीतम पोद्दार, सौरव यादव, नगर मंत्री अभिषेक वर्मा, जिला संयोजक राहुल शाह, कटिहार-किशनगंज विभाग संयोजक सौरव यादव, बलरामपुर प्रखंड संयोजक बिनोद कुशवाहा आदि मौजूद रहे।


[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275