स्थानीय ‘शान्ति स्मृति’ सम्भावना आवासीय उच्च विद्यालय शुभ नारायण नगर, मझौवाँ तथा ‘शारदा – स्मृति’ सम्भावना पब्लिक स्कूल, मौलाबाग में समारोह पूर्वक गणतंत्र दिवस तथा सरस्वती पूजन का आयोजन किया गया।

आरा :- स्थानीय ‘शान्ति स्मृति’ सम्भावना आवासीय उच्च विद्यालय शुभ नारायण नगर, मझौवाँ तथा ‘शारदा – स्मृति’ सम्भावना पब्लिक स्कूल, मौलाबाग में समारोह पूर्वक गणतंत्र दिवस तथा सरस्वती पूजन का आयोजन किया गया।

 

समारोह के प्रथम सत्र में विद्यालय की प्राचार्या डॉ० अर्चना सिंह ने राष्ट्रीय झण्डोत्तोलन किया। इस अवसर पर छात्र-छात्राओं तथा शिक्षक / कर्मचारियों को संबोधित करते हुए प्राचार्या डॉ० अर्चना सिंह ने कहा कि हमारे संविधान ने हमे एक तरफ बहुत सारे अधिकार दिये है तो दूसरी तरफ कुछ कर्तव्यों के निर्वहन की जिम्मेवारी भी दी हैं।

हम अपने अधिकारों को तो याद रखते है लेकिन कर्त्तव्यों को तो भूल जाते हैं। उन्होंने देश के संविधान के प्रति अपनी आस्था अटूट बनाये रखने की अपील की।

 

गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि महाराजा कॉलेज के पूर्व प्राचार्य डॉ० गाँधी जी राय ने अपने संबोधन में कहा कि छात्र-छात्राओं को वैसा नागरिक बनाना चाहिए जो बड़ा होकर भारत माता का सच्चा सिपाही बने और जरूरत पड़ने पर देश की सुरक्षा के लिए हँसते-हँसते अपनी कुर्बानी देने के लिए तैयार रहें। उन्होंने छात्र – छात्राओं को स्वतंत्रता संग्राम के दिनों के संघर्षो से अवगत कराया।

 

इस अवसर पर विद्यालय के एन०सी०सी० कैडेट्स ने आकर्षक परेड का प्रदर्शन किया तथा तिरंगे को सलामी

 

दी। कार्यक्रम में विद्यालय के एन०सी०सी० ए०एन०ओ० श्री प्रवीण कुमार सिंह को विद्यालय के निदेशक डॉ० कुमार

 

द्विजेन्द्र और प्राचार्या डॉ० अर्चना सिंह ने स्टार रैंक पहनाकर सम्मान किया। इस अवसर पर छात्र-छात्राओं ने

 

देश – भक्ति से ओत-प्रोत रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भाषण तथा कविता पाठ किया।

 

समारोह के द्वितीय सत्र में विद्यालय का वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव ‘बसन्तोत्सव-2023’ का आयोजन पूरे विधि-विधान से माँ सरस्वती के पूजन तथा हवन-यज्ञ के साथ प्रारम्भ हुआ।

विद्यालय के छात्र-छात्रओं ने संगीत शिक्षक श्री सरोज कुमार और नृत्य शिक्षक चिन्टू कुमार के दिशा-निर्देश में गीत-संगीत और नृत्य की सांस्कृतिक प्रस्तुति देकर दर्शक दीर्घा में बैठे अतिथि अभिभावक और विशिष्ट लोगो को भाव विभोर कर दिया।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शुरूआत ‘सरस्वती वंदना माँ शारदे निज प्रेम दे… ‘ से हुई, जिसे छात्रा श्रेया, अंशु मुस्कान रिद्धी, आकांक्षा, अन्नया, आरूषी तथा आश्ना ने प्रस्तुत किया। देश-भक्ति से ओत-प्रोत समूह नृत्य को श्रेया, सुहानी, आर्या, रितिका,

साक्षी, अंशु, श्रुती, वैष्णवी, सिद्धी, तृत्ती, सृष्टि, खुशबू, निष्टा, नम्रता नाभ्या, दिपाली, रितिका, कशीश, प्रिया, अर्चना तथा गौरी ने प्रस्तुत कर दर्शक दिर्घा में बैठे लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया। इसी तरह युगल भजन ‘

तुम बीन मोरी कौन खबर ले को अर्पिता केशरी और आस्था रानी ने आकर्षक ढंग से प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के अंत में विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने भाव नृत्य ” यमुना तट श्याम खेलत होली…” प्रस्तुत किया तथा आपस में रंग-गुलाल खेल कर बसंत आगमन का शुभारम्भ किया।

 

धन्यवाद ज्ञापन करते हुए विद्यालय के निदेशक डॉ० कुमार द्विजेन्द्र ने कहा कि यह आयोजन सिर्फ एक धार्मिक या सांस्कृतिक आयोजन ही नहीं बल्कि नई पीढ़ी को अपनी संस्कृति और संस्कार से परिचित कराने का एक व्यापक अभियान है।

इस तरह के सांस्कृतिक आयोजनों से बच्चों में नैतिक मूल्यों की नीव डाली जाली है ताकि बच्चें बड़े होकर अपने इस संस्कृति और संस्कार को आगे बढ़ा सके।

 

मंच संचालन वरिष्ठ शिक्षक श्री अरविन्द कुमार ओझा ने किया। मंचीय परिकल्पना तथा रूप सज्जा कला शिक्षक श्री विष्णु शंकर संजीव सिन्हा, सुश्री क्षमा ने किया। गीत-संगीत श्री सरोज तथा नृत्य निर्देशन श्री चिन्टू कुमार ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में उप प्राचार्य श्री ऋषिकेष ओझा, श्री ब्रजेश कुमार तथा श्री डी०के उपाध्याय का अहम योगदान रहा। समारोह में विद्यालय के सभी छात्र-छात्रा, शिक्षक / कर्मचारी तथा भारी संख्या में अभिभावक और आम लोग उपस्थित रहें।


[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275