टीकाशाला आयोजित कर सभी शिक्षकों व अभिभावकों का होगा टीकाकरण

प्रत्येक प्रखंड में रोजाना तीन से चार विद्यालयों में सत्र आयोजन का निर्देश

पहले चरण में शिक्षक तथा दूसरे चरण में अभिभावकों का होगा टीकाकरण

बक्सर:- कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर टीकाकरण अभियान को अधिक प्रभावी बनाने के उद्देश्य से अब निजी तथा सरकारी स्कूलों में टीकाकरण सत्र का आयोजन किया जायेगा।टीकाकरण सत्र के दौरान विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक, अध्ययनरत छात्र व छात्राओं के अभिभावक के कोविड-19 टीकाकरण किये जाने को लेकर राज्य सरकार के स्वास्थ्य तथा शिक्षा विभाग द्वारा जिलाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी तथा सिविल सर्जन को आवश्यक निर्देश दिये गये हैं।

दोनों विभाग के अपर मुख्य सचिव ने जारी किये निर्देश

स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत तथा शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार द्वारा संयुक्त रूप से दिशा-निर्देश जारी किया गया है। पत्र के माध्यम से जारी निर्देश में कहा गया है कि कोविड 19 टीकाकरण महामारी से बचाव का सशक्त माध्यम है। इसके लिए लक्षित लाभार्थियों का शत प्रतिशत टीकाकरण किया जाना आवश्यक है। इस क्रम में भारत सरकार के निर्देशानुसार 18 वर्ष से 44 वर्ष आयुवर्ग तथा 45 वर्ष या इससे अधिक आयुवर्ग के सभी लाभार्थियों को कोविड 19 का टीकाकरण किया जा रहा है।

चिह्नित विद्यालयों में होगा टीकाशाला का आयोजन

प्रथम चरण में राज्य के सभी निजी तथा सरकारी विद्यालयों के सभी शिक्षक, उनके परिवार के सदस्यों का टीकाकरण चिह्नित विद्यालयों में टीकाशाला का आयोजन कर मिशन मोड में पूरा किया जायेगा। विद्यालयों के शिक्षकों के टीकाकरण के पश्चात दूसरे चरण में विद्यालय में पढ़ने वाले छात्र तथा छात्राओं के अभिभावकों एवं इनके परिवार के सदस्यों का टीकाकरण किया जाना है। विद्यालय द्वारा टीकाकरण के लिए इच्छुक छात्र-छात्राओं के अभिभावकों को सूचीबद्ध किया जायेगा। इसके लिए लाइनलिस्टिंग फॉर्म भी उपलब्ध कराया गया है।

एमओआइसी व बीईओ को टीकाकरण की जिम्मेदारी

निर्देश में कहा गया है प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी विद्यालयों में इच्छुक लाभार्थियों की संख्या को ध्यान में रखते हुए चयनित विद्यालयों में टीकाशाला का आयोजन कर अधिक से अधिक अभिभावकों को टीकाकृत करना सुनिश्चित करें।

रोजाना तीन से चार विद्यालयों में सत्र आयोजन का निर्देश

टीकाशाला के लिए सत्रों की कार्ययोजना तैयार कर प्रत्येक प्रखंड में प्रतिदिन तीन से चार विद्यालयों में टीकाकरण सत्र का आयोजन किये जाने का निर्देश दिया गया है। कार्ययोजना के तहत तीन माह के अंदर जिलों के सभी विद्यालयों में कोविड-19 टीकाकरण सत्र का आयोजन कर सभी संबंधित लाभार्थियों का आच्छादन सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। प्रति सत्र स्थल पर प्रतिदिन न्यूनतम 300 लाभार्थियों के टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। विद्यालयों में टीकाकरण सत्र के आयोजन का व्यापक प्रचार प्रसार सुनिश्चित करने तथा आइईसी प्रदर्शन के लिए कहा गया है।

 

 


[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275