शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आवश्यक है आठ घंटे की नींद

– संक्रमण से पूरी तरह से ठीक हो चुके लोगों के लिए पौष्टिक भोजन के साथ पूरी नींद बेहद जरूरी

– कोरोना के संक्रमण से ठीक होने के बाद भी लोगों को शारीरिक परेशानियों का करना पड़ सकता है सामना

बक्सर:-08 जून | जिले में लॉक डाउन लागू होने के बाद जहां एक ओर संक्रमण के नये मामले कम हुए हैं, वहीं इससे ठीक होने वालों की संख्या भी काफी बढ़ी है। इन सबके बीच सबसे जरूरी बात यह है कि संक्रमण से पूरी तरह ठीक होने के बाद भी लोगों को अपनी सेहत का ख्याल रखना होगा। जिससे वह संक्रमण के बाद शरीर में आयी कमजोरी को दूर कर सकें। इसके लिए संक्रमण से उबरने के बाद अनिवार्य रूप से योग और व्यायाम के साथ-साथ पौष्टिक आहार लें। साथ ही, संक्रमण से बचाव के सभी नियमों का सख्ती से पालन करें। इस संबंध में परिवार एवं स्वास्थ्य कल्याण मंत्रालय ने पोस्ट कोविड मैनेजमेंट प्रोटोकॉल जारी किया है। जिसमें बताया गया है कि गंभीर संक्रमण से उबर चुके लोगों को लंबे समय तक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जैसे शरीर में दर्द, जकड़न, कफ, गले में खराश व सांस में तकलीफ व थकान आदि की समस्या रह सकती है। ऐसी स्थिति में समग्र रूप से व्यक्ति के स्वास्थ्य की देखभाल होनी चाहिए। होम आइसोलेशन सहित कोविड केयर सेंटर से वापस आ चुके आवश्यक निर्देशों का पालन अवश्य करें।


शरीर को रखें पूरी तरह हाइड्रेट:

पोस्ट कोविड काल में रोगी तरल पदार्थ का अधिक इस्तेमाल करें। इससे शरीर को आवश्यक खनिज तत्व प्राप्त होते हैं। पर्याप्त मात्रा में पानी पीने के साथ मौसमी फलों का जूस लें। गले में खराश या कफ की समस्या को दूर करने के लिए गुनगुना पानी पियें। साथ ही रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाने के लिए रात में हल्दी दूध जरूर लें।

देर तक जगने के कारण बढ़ सकती है परेशानी :

प्रभारी अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी सह सीडीओ डॉ. नरेश कुमार नब बताया, संक्रमण के बाद मरीज का शरीर कमजोर हो जाता है। इसके लिए पौष्टिक भोजन लेना होगा। इसके लिए हरी सब्जी, दूध, अंडा, मौसमी फल, अंकुरित चना व मूंग, अनार, सेब सहित उच्च विटामिन व प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थ बेहतर विकल्प हैं। साथ ही, इस बात का ध्यान रखना होगा कि भोजन अच्छी तरह पकाया हुआ हो और ताजा व सुपाच्य हो। उन्होंने बताया, ठीक होने के बाद मरीज को कम से कम आठ घंटे की अच्छी नींद लेनी चाहिए। इसके लिए समय पर सोना अतिआवश्यक है। रात में ज्यादा देर तक जगने के कारण उनकी परेशानी बढ़ सकती है। रात को अधिक देर तक मोबाइल या लेपटॉप का इस्तेमाल नींद को प्रभावित करता है। इसलिए समय से सोने की आदत डालें।

स्वस्थ रहने के लिए योग और व्यायाम जरूरी :

प्रभारी एसीएमओ डॉ. कुमार ने बताया, शरीरिक गतिविधियों के जरीये रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाई जा सकती है। इसलिए कोविड संक्रमण से ठीक हो चुके लोग व्यायाम व योग अनिवार्य रूप से करना चाहिये। ताकि, शरीर की रोग प्रतिरोधी क्षमता मजबूत हो सके और शरीर को नई उर्जा प्राप्त हो। साथ ही, ठीक हो चुके मरीज सांस से संबंधित व्यायाम और योग करें। जिससे इम्यूनिटी बेहतर हो और शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिल सके। उन्होंने बताया, संक्रमण से उबर चुके लोग धूम्रपान और शराब के सेवन से बचें। खैनी, पान, गुटखा सहित किसी प्रकार का भी नशीला पदार्थ का सेवन न करें। इन सब चीजों के इस्तेमाल से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है।


[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275