भोजपुर में कोरोना वायरस का प्रभाव धीरे – धीरे कम हो रहा है

सावन कुमार /आरा:-  भोजपुर में सफल लॉकडाउन का प्रभाव से  यहां कोरोनावायरस का प्रभाव कम होता जा रहा है।  यदि बात  करें आरा की तो यहां दोहपर के बाद जिला प्रशासन के अथक प्रयास से सड़कों और बाजारों में सन्नाटा ही पसरा रह रहा है।  हर चौक – चौराहे पर पुलिस की मुस्तैदी इस लॉकडाउन को सफल बनाने में अपनी अहम भूमिका निभा रही है।  साथ ही साथ आरा की जनता ने भी इस कोरोना को हारने में अपनी हर एक परेशानियों को सहते हुए जिला प्रशासन और सरकार के गाइडलाइन का काफी अच्छे से पालन करती हुई नजर आ रही है।  आरा का सबसे भीड़ – भाड़ वाला इलाका भी दोपहर 12 बजे के बाद सन्नाटे में रह रहा हैं। साथ ही हम आपको बता दें कि भोजपुर में  संक्रमित व्यक्ति की तुलना में 4 गुना से अधिक व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं। अभी जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या घटकर 301 हो गई है, जो कल तक 352  थी।  कोविड हेल्थ केयर सेंटर में 47 मरीज  भर्ती हैं ,जिसमें आरा एवम जगदीशपुर केयर सेंटर शामिल है। जिले का कोई भी संक्रमित व्यक्ति  कोविड- केयर सेंटर में अपनी बेहतर चिकित्सा सुविधा के लिए भर्ती हो सकते हैं जिला प्रशासन के द्वारा सभी प्रकार की सुविधा निशुल्क प्रदान की जा रही है।  होम आइसोलेशन में 248 व्यक्ति संक्रमित हैं, जिनका टेलीमेडिसिन एवम् कम्युनिकेशन कोषांग द्वारा बेहतर सलाह दी जा रही है।जिले मे कल शाम तक 58 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया गया, इसके अलावा  कोविड केयर  सेंटर , आरा से आज 3 मरीजों को ठीक होने पर छुट्टी दी गई। जिलाधिकारी का स्पष्ट  निर्देश दिया  है कि  संक्रमण की रोकथाम के लिए टीकाकरण एवं सैंपल की जांच को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाए , जिसके आलोक में आज भी 3123 सैंपल जांच हेतु लिए गए। उन्होंने बताया कि सैंपल की जांच बड़े पैमाने पर गांव में भी की जा रही है । उन्होंने जिले वासियों से l लॉकडाउन  के नियमो का पालन करने का फिर से अनुरोध किया है ताकि कोरोना महामारी से हम निबट सके।

[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275