गंगा नदी मे बहते तीन शव मछुआरों ने निकाला सनसनी

रमेश/बड़हरा :- प्रखंड अंतर्गत सिन्हा ओपी क्षेत्र के सिन्हा घाट से एक किलोमीटर की दूरी पर गंगा नदी में दो तीन शव मिलने के बाद इन क्षेत्र के ग्रामीण इलाके में खलबली मच गई है । शव मिलने के बाद लोगो मे कोरोना से मरने व दाह संस्कार न कर शव को गंगा नदी में फेकने की चर्चा जोरों पर है।इस मौके पर एसडीओ वैभव श्रीवास्तव के नेतृत्व में उक्त शव को एसडीपीओ पंकज रावत , बीडीओ जयवर्धन गुप्ता,सीओ रामबचन राम,कृष्णगढ़ थाना प्रभारी अरबिंद कुमार ,ख़्वासपुर ओपी प्रभारी नागेंद्र कुमार व सिन्हा ओपी के वर्तमान प्रभारी के के चौधरी द्वारा स्थानीय मछुआरों की मदद से शव को गंगा नदी से निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया है । मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार की सुबह  अक्षय तृतीया के अवसर पर गंगा स्नान करने व बाल मुंडन संस्कार के लिए सिन्हा गंगा नदी के घाट पर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी थी । इसी क्रम में नदी के पानी की तेज धारा में पांच शव बहते हुए देखा गया था। जिसकी वीडियो बना कर लोगो द्वारा सोशल मीडिया पर वायरल किया गया था । जिला प्रशासन ने वायरल वीडियो को गम्भीरता से लेते हुए एसडीओ के नेतृत्व में एसडीपीओ ,बीडीओ,सीओ सहित तीन थाना के पुलिस बल व एम्बुलेंस के साथ एक मेडिकल टीम को भेजा गया । शुरुवाती दौर में तो सिन्हा घाट पर कोई शव नही मिलने के बाद घाट पर कैम्प कर रहे एसडीओ के आदेश पर नाव द्वारा शव की खोज की गयी । इसी दरम्यान सिन्हा घाट से एक किलोमीटर की दूरी पर पूर्व की तरफ तीन शव पानी मे बहते देखे गए। जिसे मछुआरों की मदद से बहते शव को पानी से निकाला गया । शव मिलने की बात आग की तरह पूरे प्रखण्ड में फैल गयी । जिसे लेकर लोगो मे कोरोना से मरने की बात व विभिन्न प्रकार की बातों की चर्चा होने लगी ।वहीं खोजबीन करने के दौरान एक महिला व दो पुरुष का शव मछुआरों के द्वारा निकाला गया है।जो कि पुलिस ने तीनों शव को कब्जे में ले पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।


[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275