दवा विक्रेताओं का जायजा लिया गया

आरा:-वर्तमान में कोरोना महामारी के मद्देनजर दवाओं के दुकान में प्रायः किसी विशेष दवा की कमी की शिकायत प्राप्त होती रहती है। समस्या की जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन भोजपुर द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए वस्तुस्थिति की जानकारी ली जा रही है एवं समस्याओं के निराकरण के उपाय किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में एक समाचार पत्र में प्रकाशित खबर कि “भाप लेने की दवा कारबोनिल प्लस आरा के दवाओं की दुकान में उपलब्ध नहीं है ” की सूचना प्राप्त होते ही जिला प्रशासन द्वारा जिलाधिकारी के निर्देश पर त्वरित कार्रवाई की गई एवं निदेशक डीआरडीए को स्वयं बाजारों में जाकर स्थिति का जायजा लेने का निर्देश दिया गया । उक्त वरीय पदाधिकारी द्वारा पाया गया कि भाप लेने वाली कार्बोनेल प्लस मार्केट में कम है परंतु उसी के स्थान पर भाप लेने वाली अन्य दवाएं समुचित मात्रा में दुकानों में उपलब्ध है जिसमें मेंथाल एवं यूकेलिप्टोल युक्त अन्य दवा शामिल हैं। यह दवाएं भी भाप लेने में उतनी ही मददगार हैं जितनी कार्बो प्लस। वर्तमान जानकारी के अनुसार कारबो प्लस भी सदर अस्पताल के पास केसरी मेडिको में उपलब्ध हो चुका है।साथ ही ओझा फार्मा एवं अलिड फार्मा जेल रोड में उपलब्ध इन दवाओं के थोक विक्रताओं को सप्लाई जारी रखने के निर्देश भी दिए गए।
जिला प्रशासन द्वारा भोजपुर वासियों से अपील की जाती है कि इस प्रकार की खबरों से दहशत में ना आवे और ना ही परेशान होने की आवश्यकता है। जिला वासियों की सुविधा एवं आवश्यकताओं का ख्याल रखते हुए इसकी पूर्ति हेतु जिला प्रशासन द्वारा लगातार यथासंभव प्रयास किए जा रहे हैं एवं आगे भी किए जाते रहेंगे। अतः सभी अपने अपने घरों में रहें, संयम बरतें, l लॉकडाऊन के नियमो का पालन करें एवं महामारी को हराने में प्रशाशन का सहयोग करें। साथ ही साथ भोजपुर जिला में स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिया गया सूचना के अनुसार वर्तमान में जिले के सरकारी एवं प्राइवेट अस्पतालों में कोविड के मरीज हेतु ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। प्रतिदिन लगभग 200 से ढाई सौ ऑक्सीजन सिलेंडर की आपूर्ति जिले को हो रही है जिसे कोविड वार्ड, आइसोलेशन सेंटर,इमरजेंसी वार्ड,एसएनसीयू एवं प्राइवेट अस्पतालों में आवश्यकतानुसार वितरित किया जाता है ।अब तक की रिपोर्ट के अनुसार प्रतिदिन लगभग 3000 corona की जांच कराई जा रही है ।इसमें वर्तमान में एक्टिव केस 819 है जिसमें 742 होम आइसोलेशन में हैं एवं डीसीएचसी में 68 मरीजों को भर्ती किया गया ।आइसोलेशन सेंटर में 9 मरीज हैं एवं 7 मई तक होम आइसोलेशन वाले 140 मरीज 11 दिन पूरा करने पर स्वतः डिस्चार्ज की सूची में शामिल हुए है।


[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275