एनएचएसई के सीओ मनीष की कोरोना से गयी जान

विकास सिंह/आरा:-भोजपुर जिले के प्रखंड कोईलवर अंतर्गत जलपुरा गांव (खेसरहियां) में जन्मे कुमार मनीष प्राइवेट बैंकिंग क्षेत्र में अपनी काबिलियत का परचम लहराये चुके थे। इनकी उम्र लगभग बयालीस वर्ष थी।। इनके पिताजी कोलकाता में सेवा में थे इसलिए कुमार मनीष अपनी शिक्षा-दीक्षा कोलकाता में ही प्राप्त किये थे। बचपन से ही मनीष बहुत ही कुशाग्र बुद्धि के थे। वे बहुत ही मिलनसार, और मृदुभाषी व्यक्तित्व के धनी थे। जो कभी बूझ न सके वैसे चिराग थे कुमार मनीष। बैंकिंग क्षेत्र में इन्होंने अपना कार्य सबसे पहले स्टैंडर्ड चार्टेड बैंक से किया तथा इंडसइंड बैंक कायमनगर, बंधन बैंक में सीटीएम के पद पर भी कार्य किया। तदुपरांत करबी में कंट्री हेड बने। इसके बाद एनएचएसई में (COO) मुख्य परिचालन अधिकारी के पद पर थे।कुमार मनीष लगभग दस दिनों से कोरोना संक्रमित थे। इस स्थिति में उन्होंने अपने निवास स्थान गाजियाबाद, दिल्ली में ही अपने को आइसोलेट कर लिए थे। गत 30 अप्रैल को लगभग साढ़े नौ बजे रात को उन्होंने अंतिम सांस ली। आपने पीछे वे पत्नी अर्चना सिंह चालिस वर्ष और एक पुत्र शौर्य लगभग दस साल को छोड़ गये हैं। उनके साथ ही उनकी माता भी दिल्ली में साथ ही रहती थीं।इस घटना से उनसे सबंधित बैंकों के पदाधिकारियों एवं कर्मियों में शोक की लहर आग की तरह फैल गई और लोग स्तब्ध रह गये। इस असामयिक निधन पर एनएचएसई के एमडी, कुमार अमिकर, जोनल हेड वारिस अहमद खान, सी. एच. हेमंत आनंद सहित एनएचएसई के सभी कर्मियों ने शोक व्यक्त किया और उनके परिवार को संबल प्रदान करने हेतु ईश्वर से प्रार्थना की। उनके परिवार से जलपुरा निवासी पप्पू सिंह, भगिनी सुरुचि सिंह ने भी श्रद्धांजलि अर्पित की। सभी ने कहा कि कुमार मनीष का असमय इस दुनिया से चले जाना अपूरणीय है जिसे पूरा करना असंभव है।


[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275